श्री ज्योतिर्मणि पीठ !
मणिकूट - नीलकण्ठ

श्री कामाक्षी महाविद्या का मूल स्वरूप और साधना विधान क्या है ?